नाखून बताते हैं सेहत का हाल

आज हम एक नए विषय पर चर्चा करेंगे और वह है हमारे शरीर के एक महत्वपूर्ण हिस्सा जिसे हम सब नाखून कहते है। क्या आप यह जानते है की यही नाखून आपकी सेहत के बारे में बहुत कुछ कहते है? अपनी अँगुलियों के नाखूनों को देख कर हम अपनी स्वयं की अंदुरुनी सेहत के बारे में बहुत कुछ जान सकते है।

नाखून बताते हैं सेहत का हाल

दोस्तों, आज की पोस्ट में हम आज विभिन्न प्रकार के नाखूनों के रंग, स्तिथि और प्रकार के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। कई बीमारियां ऐसी होती है जिनके संकेत हमें हमारा शरीर नाखूनों के माध्यम से देना शुरू कर देता है। इस स्तिथि में हम अपने नाखूनों को देख कर भविष्य में होने वाली बीमारी के बारे में पता कर सकते है। नाखून हमें भविष्य में होने वाली कई प्रकार की बीमारियों के बारे में पहले से ही आगाह कर देते है। इसके साथ ही नाखूनों के बदलते रंग व स्थिति से सेहत के बारे में जाना जा सकता है।इनके द्वारा दिए गए संकेत काफी हद तक सही और सटीक साबित हुए है। 

 

पीले नाखून: 

अगर आपके नाखून फीके या हल्के पीले पड़ रहे है तो यह सकेत है कि आपको अनीमिया, ह्वदय संबधी परेशानी या कुपोषण, लिवर संबधी रोग हो सकते हैं। नाखून में कभी कभी फंगर्स इन्फेक्शन की वजह से पूरा नाखून पीला पड़ जाता है। कई बार पीलिया, थॉयरॉएड, मधुमेह और सिरोसिस की वजह से भी नाखून पीले पड़ सकते हैं। अगर इस तरह की कोई समस्या है तो अपने डॉक्टर से अवश्य रूप से सलाह ले। नाखून पीले व मोटे हैं और धीमी गति से बढ़ रहे हैं तो यह फेफड़े संबंधी रोगों का संकेत हो सकता है। यदि नाखूनों का रंग पीला है या उनकी पर्त सफेद है तो यह लक्षण शरीर में खून की कमी जिसे हम एनीमिया भी कहते है का लक्षण है। 

उभरे हुए नाखून: 

नाखून के बाहर और आसपास की त्वचा का उभरा भी नाखून के लिए हानिकारक हो सकता है। इस समस्या में नाखून गोलाकार होने लगते है साथ ही आपकी उंगली का ऊपर वाला हिस्सा अधिक मोटा नजर आने लगता है। ऎसा होने पर यह संकेत है कि आपके शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह सही ढ़ग से नहीं हो रहा जिससे आपकी उंगलियों यह बताती है कि आपके फेफड़े व आंतो में सूजन हो सकता है। अगर आपके थोड़े उठ जाते हैं या थोड़े से मुड़ जाते हैं यानि नाखूनों में क्लबिंग हो जाती है तो समझिए आपके खून में ऑक्सीजन की कमी है। ऐसा होने से आपको फेफड़ों से जुड़ी कोई बीमारी हो सकती है। साथ ही नाखूनों के ऐसा होने से लिवर, किडनी, दिल और एड्स जैसी दिक्कत हो सकती है। इस स्थिति में नाखून असाधारण ढंग से ऊपर की और उठ जाता है और उंगली के सिरों के चारों ओर मुड़ जाता है। इस तरह के नाखूनों से आपको किडनी से संबंधित बीमारी हो सकती है। ये विटामिन ए और प्रोटीन की कमी को भी दर्शाते हैं।

सफेद नाखून:

कई बार आपने देखा होगा कि आपके नाखूनों में सफेद धब्‍बे नजर आने लगते हैं और धीरे-धीरे नाखूनों पर सफेद धब्बे बढ़नेलगते हैं, यह पीलिया या लिवर संबंधी अन्य रोगों की ओर इशारा करते हैं। कई बार नाखूनों पर सफेद धब्बे नजर आते हैं तो कई बार वे पूरे सफेद दिखते हैं। नाखूनों की सफेदी लिवर रोगों के अलावा हृदय व आंत की ओर भी संकेत करती है। हालांकि साइरोसिस या एग्जिमा भी इस लक्षण के घेरे में आते हैं। 

नीले नाखून:– 

शरीर में ऑक्सीजन का संचार ठीक प्रकार से न होने पर नाखूनों का रंग नीला होने लगता है। यह फेफड़ों में संक्रमण, निमोनिया या दिल के रोगों की ओर भी संकेत करता है। कई बार शरीर में ऑक्‍सीजन का संचार ठीक प्रकार से नहीं होता है जिसके कारण नाखूनों का रंग नीला होने लगता है। नाखूनों को नीला होना फेफड़ों में संक्रमण, निमोनिया या दिल से संबंधित किसी रोग का लक्षण हो सकता है। 

आधे सफेद और आधे गुलाबी नाखून:- 

नाखूनों का रंग अचानक आधा गुलाबी व आधा सफेद दिखाई दे तो ऐसा होना गुर्दे के रोग व सिरोसिस का संकेत देता है। आधे सफेद और आधे गुलाबी नाखून किडनी से संबंधित बीमारियों का संकेत देते हैं।

लाल व जामुनी रंग:-

नाखूनों का गहरा लाल रंग हाई ब्लड प्रेशर का संकेत देता है।जबकि जामुनी रंग के नाखून लो ब्लड प्रेशर का संकेत देते हैं। नाखूनो का गहरा होना और उनपर छोटे लाल रंग के धब्बे जैसा बनना हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। जबकि नाखूनों का नीला पड़ना या फीका पड़ना लो ब्लड प्रेशर की निशानी होती हैं। 

चम्मच की तरह नाखून:- 

खून की कमी के अलावा आनुवंशिक रोग, ट्रॉमा की स्थिति में भी नाखूनों का आकार चम्मच की तरह हो जाता है और नाखून बाहर की ओर मुड़ जाते हैं। नाखूनों का चम्मच की तरह आकार लेना आनुवंशिक रोग, ट्रॉमा की स्थिति की ओर भी संकेत करता है। 

कमजोर नाखून:- 

कमजोर या नाजुक नाखून शरीर में कैल्शियम की कमी को दर्शाते हैं। इसके अलावा अगर ये सूखे हो या बहुत जल्दी टूट जाएं, तो यह आपके शरीर में विटामिन ‘सी’, फोलिक एसिड, और प्रोटीन की कमी को दर्शाता है। इसके अलावा आपको थायराइड की समस्या हो सकती है। 

भूरे या काले धब्बे:- 

भूरे या काले धब्बे आमतौर पर नाखून के आस-पास की खाल पर फैल जाते हैं। यह एक बड़ा धब्बा या छोटे-छोटे निशान भी हो सकते हैं। इस तरह के धब्‍बे हाथ और पैर के अंगूठों पर होते हैं। यह धब्‍बे त्वचा या आंख की रसौली की ओर इशारा करते है। नाखूनों का में काले रंग का वर्टिकल लाइन बनना आपके नाखून के धीरे धीरे कमजोर होने की ओर इशारा करता है। नाखून का काला पड़ना मेलानोमा होने की ओर संकेत करता है। 

ऐसे रखें नाखूनों को स्‍वस्‍थ:- 

नाखूनों की समय-समय पर सफाई करें और उनकी जैतून के तेल से मालिश करें। इसके अलावा अपने खान-पान का भी ध्‍यान रखें। अपने आहार में विटामिन बी-7, ए, पोटेशियम, फॉस्फोरस युक्त आहार लें। यह आपको दाल, सब्जियों, रेड मीट, मछली और दूध के उत्पादों में प्रचुर मात्रा में मिलता है। इसके अलावा फलियां, अंडे और सलाद के रूप में कच्ची सब्जियां खाएं। इनमें जिंक होने की वजह से नाखून मजबूत होते हैं। नाखूनों की बाहरी त्वचा का खास ध्यान रखें। क्यूटिकल्स ही फंगस और बैक्टीरिया के संक्रमण से बचाव करते हैं। नाखून व पोरों के आसपास की त्वचा को नियमित रूप से मॉइस्चराइजर की नमी दें। विटामिन सी का सेवन नाखूनों के आसपास की त्वचा को कटने-फटने से रोकता है। नाखूनों पर कम से कम रासायनिक उत्पादों का इस्तेमाल करें।

दोस्तों तो यह थी आज की पोस्ट के विषय के बारे में जानकारी। वीडियो के माध्यम से नाखूनों के द्वारा अपनी सेहत का अंदुरुनी हाल जानने के लिए नीचे दिए गए वीडियो के लिंक को क्लिक करे और शेयर करे। हमेशा की तरह अपने प्यार भरे कमैंट्स और इमेल्स हमें निरंतर भेजते रहे व इसी प्रकार हमारा हौसला बढ़ाते रहे। अगली बार हम एक बार फिर से आपके साथ होंगे एक नए और दिलचस्प विषय के साथ, तब तक के लिए “स्वस्थ्य रहे- फिट रहे”

2 thoughts on “नाखून बताते हैं सेहत का हाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *