भीगी हुई किशमिश के 15 फ़ायदे

मित्रों आज हम अपने इस ब्लॉग पर आज प्रकाशित होने वाली पोस्ट के बारे में आप सभी को विस्तार से बतलायेंगे। जिसका का विषय है “भीगी हुई किशमिश खाने से शरीर और स्वास्थ्य को होने वाले 15 फायदे” क्या आप जानते है कि किशमिश में भरपूर मात्रा में आयरन, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फाइबर होते है। इसी लिए इन्हें स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। लेकिन आयुर्वेद के अनुसार रोज सुखी किशमिश खाने के बजाय अगर भीगी हुई किशमिश खाई जाये तो कई गुना फायदा होता है।
भीगी हुई किसमिश के 15 फ़ायदे

 

जैसा कि हम सभी जानते है कि किशमिश में प्रचुर मात्रा में शुगर होती है। रातभर भीगकर रखने से उनके अंदर का शुगर कंटेंट कम हो जाता है और उसके साथ ही किशमिश की पोषकता और न्यूट्रिशनल वैल्यू काफी बढ़ जाती है। एम्स के जाने माने डॉक्टर के अनुसार रोज़ खाली पेट भीगी हुई किशमिश खाने से हमको 15 तरह के फायदे मिलते है और वो है-

1.   डाइजेशन:-  किशमिश में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। इसको भीगा कर खाने से हमारे शरीर काडाइजेशन सिस्टम अच्छा होता है।
2.   ओरल डिजीज:  किशमिश में मौजूद ओलीनोलिक एसिड मुँह के हानिकारक बैक्टीरिया को ख़तम कर देता है। साथ ही नियमित रूप से भीगी हुई किशमिश खाने से मुख से सबंधित प्रॉब्लम दूर होती है।
3.   मज़बूत हड्डियां:– किशमिश में बोरोन नाम का माइक्रो नुट्रिएंट्स पाए जाते है जो हमारी हड्डियों को मज़बूत करने में बहुत सहायक होते है।
4.   एसिडिटी:- किशमिश में मौजूद मैग्नीशियम और पोटैशियम पर्याप्त मात्रा में मिलते है। यही नुट्रिएंट्स हमारे शरीर का एसिड लेवल को नियंत्रित करते है। जिसकी वजह से एसिडिटी की प्रॉब्लम आसानी से दूर हो जाती है।
5.   खून की कमी:- किशमिश में पर्याप्त मात्रा में आयरन पाया जाता है जोहमारे शरीर में खून की कमी को दूर करता है और एनीमिया जैसी बीमारी को नहीं होने देता है।
6.   आँखों की रोशनी:– किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन-A, बीटाकैरोटीन और कैरोटीनॉइड जैसे पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में होते है। यह सभी नुट्रिएंट्स आँखों की रोशनी बढ़ाने में बहुत सहायता करते है।
7.   सेहतमंद ह्रदय:– किशमिश में फाइबर की मौजूदगी ह्रदय की रक्त कोशिकाओं के अंदर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कण्ट्रोल में रखती है।  जिसकी वजह से ह्रदय से सम्बंधित बीमारी होने का खतरा नहीं रहता है।
8.   वजन बढ़ाए:– किशमिश में शुगर कंटेंट जैसे फ्रक्टोज़ और ग्लूकोस बहुत अधिक होता है। जिसके कारण इन्हें खाने से तुंरत शरीर में ऊर्जा आती है और शरीर की कमज़ोरी दूर होती है। जिसके कारण हमारे शरीर का वजन हेल्दी तरीके से बढ़ता है।
  
9.   किडनी:- नियमित रूप से किशमिश खाने से शरीर के अंदर के हानिकारक टॉक्सिन्स कुदरती रूप से बाहर निकलते है। जिसके कारण किडनी की नार्मल फंक्शनिंग अच्छी तरह से होती रहती है। जिसकी वजह से कभी भी किडनी डिजीज का खतरा भी नहीं रहता है।
  
10.  लिवर:– जिस प्रकार से भीगी हुई किशमिश खाने से टॉक्सिन्स बाहर निकलते रहते है तो लिवर को भी कोई खतरा नहीं रहता है। वह अपना कार्य सुचारु रूप से करता रहता है और लिवर से सम्बंधित कोई बीमारी भी नहीं होती है।
  
11.  बीमारियों से बचाव:- नियमित रूप में भीगी हुई किशमिश खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती रहती है। जिसके कारण शरीर के अंदर विभिन्न प्रकार की बीमारियों से लड़ने की क्षमता बनी व बढ़ती रहती है। जिसके फलस्वरूप बीमार होने अवसर बहुत ही कम हो जाता है।
  
12.  स्वस्थ्य त्वचा:– नियमित रूप से भीगी हुई किशमिश खाने से खून हमेशा साफ़ होता रहता है और इसी वजह से त्वचा पर दाने व पिम्पल्स नहीं पड़ते है। त्वचा का निखार हमेशा बना रहता है और त्वचा हमेशा स्वस्थ्य रहती है।
  
13.  संक्रमण:– किशमिश के पानी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल तत्व पाए जाते है।  जिसकी वजह से शरीर या फिर त्वचा में इन्फेक्शन का खतरा भी टल जाता है।
  
14.  एंटी एजिंग:– किशमिश में मौजूद फ्लैवोनॉइड (Flavonoids) नाम का एंटी-ऑक्सीडेंट्स बढ़ती हुई उम्र का इफ़ेक्ट कम करने में सहायक होता है। नियमित रूप से किशमिश खाने से हम अपने आप को लम्बे समय तक जवान बना सकते है।
15.  सांसो की बदबू:- किशमिश में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल तत्व मुँह के बैक्टीरिया को ख़तम कर देते है।  जिसके कारण मुँह से आने वाली स्मेल दूर हो जाती है।
  

तो यह थे भीगी हुई किशमिश खाने के 15 फायदें। वीडियो के रूप भीगी हुई किशमिश के इन्ही बताये गए फायदों को देखने के लिए नीचे दिए गए वीडियो के लिंक को क्लिक करे और पसंद आने पर “लाइक” के बटन को क्लिक करे और अपने जानकारों के बीच वीडियो को शेयर करे।  इस पोस्ट के बारे में अपने विचार हम तक पहुंचने के लिए कमेंट बॉक्स में लिखे या फिर हमारी ईमेल आईडी पर मेल करे।

 

 

  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *