क्या बहुत अधिक दूध पीना भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है?

दूध पीना

घर के बड़े बुजुर्ग लोग बचपन से ही हम सभी को दूध पीने के अनगिनित फायदे गिनाते हुए आ रहे है और यह बात भी 100 फीसदी सही भी है। दूध के एक गिलास में काफी मात्रा में कैल्शियम मिलता है जोकि हमारी हड्डियों को मजबूती प्रदान करने के साथ-साथ माशपेशियों को बढ़ने का पूरा मौका देता है।

पौष्टिक चीज जैसे दूध

यही एक वजह है कि दूध और उससे जुड़े हुए विभिन्न प्रकार के खाद्य उत्पाद हम सभी के घरों में मिलते है। लेकिन क्या आप जानते है कि जो दूध हमारे आपके शरीर व सेहतमंद स्वास्थ्य के लिए अत्य आवशयक माना जाता है वही दूध अगर एक सीमा से ज्यादा पीया जाए तो शरीर व स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेय भी बन जाता है।

आज के हमारे इस लेख में हम यही आप सभी के साथ शेयर करने जा रहे है कि कभी-कभी बहुत अधिक दूध पीना सेहत के लिए परेशानी का कारण बन सकता है।

क्या जरुरत से ज्यादा दूध पीने के कोई प्रतिकूल प्रभाव होता है?

डेरी उत्पाद

जैसा की सभी जानते है की दूध सेहत के लिए अच्छा और बहुत पौष्टिक माना जाता है लेकिन यही दूध दिन भर में निर्धारित मात्रा से अधिक ले लिया जाय तो फिर वह सेहत के लिए सही नहीं माना जाता है। एक कहावत भी इस बारे में प्रचलित है कि अति किसी भी चीज की बुरी ही होती है चाहे वो हमारे शरीर व स्वास्थ्य के लिए माने जाना वाला सबसे पौष्टिक चीज जैसे दूध ही क्यों ना हो।

एक स्टडी के अनुसार यह साबित हुआ है की बहुत अधिक मात्रा में दूध को पीने से हड्डी में फ्रैक्चर होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। शोधकर्ता के अनुसार ज्यादा दूध पीने का मतलब दिनभर में 3 या फिर 3 से अधिक गिलास लेना। इस शोध के परिणाम जो महिलाओं से मिले वो बहुत ही चौकाने वाले थे। 

अधिक दूध पीना

महिलाओं के केस में यह देखा गया कि एक लिमिट से ज्यादा दूध पीने से (3 गिलास से ज्यादा) उनकी मृत्यु होने की आशंका करीब-करीब दुगनी हो जाती है बनिस्पत उन महिलाओं के जो दिन में केवल 1 गिलास दूध पीती है।

यहाँ देखने वाली बात यह है की पुरुषों के केस इस प्रकार का खतरा नहीं होता है, लेकिन वो पुरुषों की मृत्यु दर को जरूर बड़ा देता है। जरुरत से ज्यादा दूध पीने से यह कही भी नहीं साबित होता है की भविष्य में आपकी हड्डियों के फ्रैक्चर होने की संभावना कम हो जायेगी। 

क्या आपको दूध पीना छोड़ देना चाहिए?

ताज़ा दूध

कैल्शियम के इलावा इसमें और भी जरुरी पौष्टिक तत्व जैसे विटामिन-D, विटामिन B12 और प्रोटीन मिलते है जो हमारे शरीर और सेहतमंद स्वास्थ्य के लिए नितांत आवशयक माने जाते है। रोज एक गिलास दूध पीने से किसी प्रकार की दीर्घकालिक बीमारी होने का खतरा भी टल जाता है। इसलिए रोज एक गिलास दूध पीना सेहत के लिए बढ़िया माना जाता है। 

इस शोध के परिणाम कुछ हद तक खतरनाक हो सकते है लेकिन यह बिलकुल भी नहीं कि हमें दूध ही पीना छोड़ देना पड़े। दूध हमारे शरीर को पोषण देने वाला एक परिपूर्ण आहार और ऊर्जा का स्त्रोत्र है।

कुछ अन्य प्रतिकूल प्रभाव अधिक दूध पीने के

ताज़ा ताज़ा दूध

दूध हमेशा निर्धारित मात्रा में भी पीना चाहिए। ज्यादा दूध पीने से शरीर के अंदर थकान महसूस होने लगती है, यह आपको सुस्त और निष्क्रिय महसूस होने का एहसास करा सकती है। इसकी वजह है दूध में मौजूद A1 casein जो आँतों की परतों में सूजन पैदा कर सकते है और इसके साथ ही पेट की आँतों की भेद्यता को बड़ा सकते है।

रोज एक गिलास दूध

यह भी पाया गया है की बहुत अधिक चिकनाई वाले दूध और उसके उत्पाद को खाने से चेहरे पर साधारण व गहन मुहासों होना भी शुरू हो सकते है। दूध पीने से कभी कभार पेट से जुडी हुई परेशानियाँ जैसे पेट का फूलना या फिर गैस बनाना भी शरू होने लगता है। बहुत अधिक डेरी उत्पाद खाने से पेट में मरोड़, दर्द और दस्त भी होने लगते है। 

आखिर में पियो केवल एक गिलास फुल दूध और अपनी सेहतमंद स्वास्थ्य की फिटनेस बनाये रखे !

स्त्रोत्र   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *