क्या आप खाली पेट ग्रीन टी पीते है?

ग्रीन टी पीने का सबसे बढ़िया समय

अच्छे और बढ़िया सेहतमंद स्वास्थ्य के लिए ग्रीन टी पीना बहुत ही अच्छा माना जाता है, लेकिन क्या आप इसे खाली पेट पीते है?

ग्रीन टी

आमतौर हम सभी ग्रीन या फिर हर्बल टी को हमारे शरीर व स्वास्थ्य के लिए अच्छा एवं लाभप्रद मानते है, क्योकि ग्रीन टी हमारा वजन घटाने से लेकर ब्लड शुगर का लेवल को कम रखता है। ग्रीन टी में बहुत सारी खूबियाँ होती है जो इसे नार्मल दूध चीनी वाली चाय से अलग करती है। हमारे आपके शरीर और स्वास्थ्य को बेहिसाब बहुमूल्य फायदे पहुंचाने वाली गुणकारी ग्रीन या हर्बल टी की लिस्ट बहुत लम्बी है।

वजन घटाने

बहुत से लोग तो अपने दिन की शुरुआत तो सुबहः इसी ग्रीन टी को पीकर करते है। इसमें कोई दोराय नहीं है की ग्रीन / हर्बल चाय सेहतमंद होती है, लेकिन क्या इसको खाली पेट पीना सही है? इसका उत्तर है – नहीं। क्या आप यह जानते है की ग्रीन चाय भी आपके स्वास्थ्य और शरीर को हानि पहुँचा सकती है यदि खाली पेट ली जाए।

ग्रीन टी खाली पेट पीने से होने वाला दुष्प्रभाव – 1

पेट में दर्द

ग्रीन टी में भी टैनिन नाम का यौगिक पदार्थ होता है जो हमारे शरीर के एसिड के नार्मल लेवेल को बढ़ा सकती है, जिसकी वजह से पेट में दर्द शुरू हो सकता है। इसके साथ ही पेट में बढ़ता हुए एसिड के लेवेल से उबकाई आना या फिर उलटी जैसा भी महसूस होने लगता है। यही आगे चल कर पेट से जुडी अन्य बीमारियाँ जैसे कब्ज आदि के रूप धारण कर सकती है।

जिन लोगों को पेट के अल्सर या फिर एसिडिटी की शिकायत रहती है उनको सभी को सुबहः के समय सबसे पहले खाली पेट ग्रीन टी नहीं लेनी चाहिए। ऐसा न करने करने पर उनकी पेट से जुड़ी बीमारी ज्यादा बढ़ सकती है और उनकी तबियत गंभीर हो सकती है। 

ग्रीन टी खाली पेट पीने से होने वाला दुष्प्रभाव – 2

खून के जमने

ग्रीन टी खाली पेट लेने से उसमे मौजूद कंपाउंड हमारे शरीर व खून को बल्कि बहुत जल्दी और गहराई तक विपरीत असर करते है बनिस्पत तब जबकि आप ग्रीन टी लेने के साथ कुछ हल्का-फुल्का नाश्ता जैसे बिस्कुट या टोस्ट लेते है। सबसे पहला हानिकारक प्रभाव जो ग्रीन टी हमारे स्वास्थ्य को खाली पेट लेने से होता है, वह यह है की जो प्रोटीन हमारे खून को जल्दी जमने ने मदद करते है यह उस प्रोटीन की कमी करने लगती है।

ग्रीन टी फैटी एसिड्स का ऑक्सीडेशन की प्रक्रिया नहीं होने देती है क्योकि ग्रीन टी में एंटीऑक्सिडेंट्स होते है। जिसके कारण खून के गाढ़ापन वाली खूबी कम होने लगती है व खून पतला होने लगता है। अतः जिन लोगों को खून के जमने सम्बन्धी बीमारी होती है उनको ग्रीन टी खाली पेट पीने की सलाह नहीं दी जाती है। 

ग्रीन टी खाली पेट पीने से होने वाला दुष्प्रभाव – 3

एनीमिया या फिर आयरन की कमी

ग्रीन टी हमारे शरीर के आयरन को अपने भीतर सोखने की प्राकर्तिक क्षमता को कम कर देती है। अतः ये सलाह दी जाती है कि जिन लोगों को एनीमिया या फिर आयरन की कमी की शिकायत रहती है, वे लोग ग्रीन टी खाली पेट बिलकुल भी ना लेवे। अगर फिर भी कोई ग्रीन टी पीना चाहता है तो वह इसको केवल कभी कभार ले सकता है और हाँ कुछ ना कुछ खाने के बाद ही इसे पिए। 

ग्रीन टी खाली पेट पीने से होने वाला दुष्प्रभाव – 4

ब्लड प्रेशर व ह्रदय के रोगियों

इसमें मौजूद कैफीन हमारे शरीर के अंदर पाए जाने वाले adrenal glands को प्रेरित करती है जिसकी वजह से तनाव हटाने वाले होर्मोनेस जैसे कोर्टिसोल और एड्रेनालाईन को शरीर में छोड़ती है। इन दोनों होर्मोनेस की वजह से ब्लड प्रेशर और हमारे ह्रदय की धड़कने की गति सामान्यता बढ़ जाती है जोकि ब्लड प्रेशर व ह्रदय के रोगियों के लिए अच्छी नहीं है।

ऐसे रोगी यदि लम्बे समय तक ग्रीन टी का सेवन करते है तो उनके एड्रेनल ग्लांड्स काम करना बंद कर सकते है। 

ग्रीन टी पीने का सबसे बढ़िया समय

ग्रीन टी पीने का सबसे बढ़िया समय

इसलिए ग्रीन टी पीने का सबसे बढ़िया समय सुबहः का रहता है। इसके आप चाहे तो थोड़ा बहुत स्नैक्स भी ले सकते है जिसमे whole-grain बिस्किट्स या फिर आपका कोई पसंदीदा फल भी ले सकते है। 

स्त्रोत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *