दाँत दर्द के 5 घरेलू उपचार

दाँत दर्द के 5 घरेलू उपाय

अगर आप दाँत दर्द से पीड़ित रहे है तो आप जानते है की यह कितना पीड़ादायक होता है। कहा जाता की बीमारी कभी कह के नहीं आती है, उसी तरह दाँत दर्द भी बिना किसी चेतावनी के आपकी नार्मल जिंदगी को बेपटरी कर सकता है। अगर आप कुछ घरेलू उपचार को आजमाना चाहे तो हम कुछ उपचार के बारे में नीचे जिक्र कर रहे है।

1. नमक के पानी के ग़रारे:-

नमक के पानी के ग़रारे

यह एक प्रकार का प्रारम्भिक उपचार है। जैसा की हम जानते है की नमक का पानी एक तरह का कीटाणुनाशक है। यह आपके दाँतों के बीच में फ़से खाद्य पदार्थ और उनके छोटे महीन टुकड़ों को आसानी से निकाल सकता है। नमक के पानी के ग़रारे करने से किसी प्रकार की सूजन या फिर फिर कोई मुँह के घाव को भी ठीक कर सकता है।  जिसके लिए आपको 1 /2  चम्मच नमक को गुनगुने पानी में डाल कर उससे माउथवाश करना होगा।

2. हाइड्रोजन पेरोक्साइड के ग़रारे:-

हाइड्रोजन पेरोक्साइड के ग़रारे

हाइड्रोजन पेरोक्साइड पानी में घोल कर ग़रारे करने से भी दर्द और सूजन में आराम मिलता है क्योकि यह बैक्टीरिया को मरता है, प्लाक को कम करता है और मसूड़ों से खून आना कम और उन्हें जल्दी ठीक भी करता है। यह ध्यान में रहे की हाइड्रोजन पेरोक्साइड को काम में लेने से पहले पतला जरूर कर लेवें।  करीब 3% हाइड्रोजन पेरोक्साइड को बराबर की मात्रा में पानी में मिला ले और उससे माउथवाश करे। माउथवाश करते समय यह ध्यान में अवश्य रखे की हाइड्रोजन पेरोक्साइड वाले पानी को शरीर के अंदर नहीं ले।

3. पेपरमिंट के टी-बैग्स:-

पेपरमिंट के टी-बैग्स

पेपरमिंट या फिर पुदीने की पत्तियों दर्द को दबा देती है और संवेदनशील मसूंडों को आराम पहुँचती है। इसके लिए आप चाहे तो इस्तेमाल किया हुआ कोई टी-बैग लेकर उसको ठंडा कर सकते है फिर इस टी-बैग को दर्द वाले स्थान पर लगा सकते है। आप चाहे तो इस टी-बैग को हल्का सा गर्म करके इस्तेमाल कर सकते है। इसके उल्टा आप चाहे तो टी-बैग को कुछ समय के लिए फ्रीजर में जमा कर दर्द वाली जगह पर इस्तेमाल कर सकते है।

4. लहसुन:-

लहसुन

लहसुन हम सभी के घरों में बरसों से विभिन्न प्रकार की तकलीफों का सफलतापूर्वक घरेलू उपचार में काम में आती रही है। लहसुन में पाए जाने वाले गुण हानिकारक बैक्टीरिया जो की दांतों में प्लाक और दर्द में आराम देते है। उसके लिए बस आपको लहसुन की कली को पीस कर पेस्ट बनाना है और उसको दर्द वाले स्थान पर लगाना है। आप चाहें तो थोड़ा सा नमक लहसुन के पेस्ट में मिला सकते है और चाहें तो लहसुन को कच्ची भी चबा सकते है। 

5. लौंग:-

लौंग

लौंग का इस्तेमाल बरसोँ से दांत के दर्द के लिए किया जाता रहा है। लौंग का तेल भी दर्द को कम करने और मसूड़ों की सूजन दूर करने में काफी असरदार माना गया है।  लौंग के तेल में युजिनॉल पाया जाता है जो की एक प्रकार का कुदरती एंटीसेप्टिक का काम करता है। आप चाहें तो लौंग के तेल की कुछ बूंदे को रुई में डाल कर दर्द वाली जगह पर लगाया जा सकता है। यह जरूर ध्यान में रखे की लौंग के तेल को किसी अन्य सहायक तेल जैसे जैतून का तेल में पहले मिला ले। इसके साथ ही आप लौंग के तेल की कुछ बूंदे पानी में डाल कर माउथवाश कर सकते है। 

स्त्रोत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *