कब्ज के सरल और असरदार घरेलू उपचार

कब्ज_से_पीड़ित

हम बताने जा रहे है कब्ज को दूर करने की प्रभावशाली घरेलू तरीके। कब्ज पेट से जुड़ी एक सामान्य परेशानी है जो अधिकतर सभी उम्र के लोगों को कभी न कभी उठानी पड़ती है। ज्यादातर केस में यह बहुत गंभीर नहीं होती है, लेकिन हाँ यह कष्ट और असुविधा का कारण जरूर बनती है।

कब्ज

किसी भी व्यक्ति को कब्ज तब होती है जब उसका आँतों के भीतर मल त्यागने की प्रक्रिया धीमी पड़ जाती है, जिसकी वजह से मल को बाहर निकलने के रास्ते में कठिनाई होती है। यह कई कारणों से हो सकता है जैसे कम पानी पीने की आदत, कम रेशेदार खाद्य पदार्थ का सेवन, बहुत कम शारारिक श्रम करना, गर्भावस्ता के दौरान या फिर लेने वाली दवाईयों के साइड इफेक्ट्स के कारण।

कब्ज_से_पीड़ित

बार-बार कब्ज से पीड़ित होने की मुख्य वजह ख़राब दैनिक जीवन चर्या या फिर कोई स्वास्थ्य सम्बंधित बीमारी। ज्यादातर केस में कभी कभार होने वाली कब्ज की परेशानी को हम व आप अपनी जीवन शैली को सुधार कर साथ ही कुछ घरेलू उपायों के द्वारा ठीक कर सकते है। सीरियस केस में सबसे अच्छा गेस्टरो वाले डॉक्टर से परामर्श ले सकते है। 

1. पानी

पानी

जरूरी से कम पानी पीने से यह कब्ज की बीमारी होना बहुत आम बात है जिसकी वजह से मल आँतों के अंदर सूख कर सख्त हो जाता है साथ ही इसके बाहर निकलने में दिक्कत होती है। इसलिए सबसे पहली और जरुरी ध्यान में रखने वाली बात यह है की दिन में कम से कम 3-4 लीटर पानी पीना शुरू कर देवे। सुबह हो सके तो उठने के बाद खाली पेट ही 2-3 गिलास गुनगुना पानी ले।

अगर इसको आप अपनी आदत बना लेते है तो फिर कभी भी कब्ज की परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी।

2. नारियल का तेल

नारियल का तेल

नारियल के तेल में प्रचुर मात्रा में  Medium-chain fatty acids होते है जो आंतों के अंदर होने वाली हरकतों में मदद करते है साथ ही मल को नरम बनाते है। नारियल का तेल आँतों को चिकना रखने में सहायता करते है जिसकी वजह से कब्ज जैसी परेशानी पैदा नहीं होती है। यह हमारे शरीर के अंदर मौजूद जरुरत से ज्यादा गन्दगी को भी बाहर निकलने में सहायता करता है।

कब्ज से पीड़ित लोगों को 1-2 चम्मच शुद्ध नारियल के तेल कब्ज से राहत पाने के लिए अवश्य लेना चाहिए। नारियल के तेल को खाने के उद्देश्य से सुरक्षित और बिना किसी दुष्प्रभाव वाला माना जाता है। 

3. अदरक

अदरक

बहुत ही व्यापक तरीके से भारतीय रसोई में इस्तेमाल किया जाने वाला अदरक जो सभी तरह के खाने में स्वाद और टेस्ट लाता है, उसमे सेहतमंद स्वास्थ्य के प्रति बहुत से सेहत वाले लाभ व गुण होते है। अदरक जाना जाता है अपने Laxative properties की वजह से, जो हमारे Bowel movement को बढ़ावा देते है जिसकी कारण कब्ज की परेशानी में तुरन्त राहत मिलती है।

अदरक को आप दो तरह से काम में ले सकते है पहला – अदरक वाली चाय के रूप में दूसरा अदरक तत्व के तेल की पेट पर मसाज कर के। दोनों ही तरीकों से कब्ज जैसी बीमारी को दूर करने में काफी हद तक सहूलियत मिलती है। 

4. कॉफ़ी

कॉफ़ी

कॉफी जैसे कैफीन वाले पेय पदार्थ भी हमारे bowel movement को प्रेरित करते है हमारी पेट की मसल्स को सिकुड़ने में जिसकी वजह से कब्ज में आराम मिलता है और मल शरीर के बाहर निकल जाता है। इसलिए कॉफ़ी पीने से भी इस कब्ज की तकलीफ में चैन मिलता है। तो अब कभी भी कब्ज जैसा लगे तो दिन में एक या दो कप कॉफी के ले लेवे जल्द ही आराम मिलेगा।

कॉफी bowel movement में सहायता करती है लेकिन जरुरत से ज्यादा भी कॉफी पीने से यह आपको dehydrated कर देती है, अतएव कॉफी या कैफीन वाले पेय पदार्थ के साथ-साथ पानी भी पर्याप्त मात्रा में पीना चाहिए। 

5. नीबू

नीबू

गर्म पानी के साथ नीबू का रस मिलाकर पीना एक और प्रचलित व लोकप्रिय घरेलू उपाय है। नीबू का स्वभाव एसिडिक होता है जिसमें विटामिन-सी और एंटीऑक्सिडेंट्स बहुतायत में मिलते है जो हमारे शरीर के विषैले तत्वों को पेट की आँतों से निकालकर स्वच्छ पानी को वापस आँतों के अंदर छोड़ते है।

इसके साथ ही जब पानी का लेवल आँतों में बढ़ता है तो वह मल को नरम करता है व bowel movement को बढ़ता है। जो आगे चल कर कब्ज से राहत देता है। 

6. Probiotic

दही

Probiotic एक तरह का लोकप्रिय खाना है जो आँतों के सेहतमंद बैक्टीरिया को बढ़ावा देते है साथ ही असरदार तरीके से कब्ज का सही इलाज करने में सक्षम होते है। स्वस्थ्य बैक्टीरिया जैसे Bifidobacterium और Lactobacillus जोकि probiotic में पाए जाते है स्वस्थ bowel movement को सराहा देते है। ये मल को त्यागने में मदद करते है व पाचन संबधी गतिविधियों को अपेक्षाकृत कम समय में पूर्ण करते है।

दही, बंदगोभी / पत्तागोभी का आचार व Kefir कुछ ऐसे ही आसानी से उपलब्ध प्राकर्तिक probiotic के स्त्रोत्र है। इनको उन लोगों को नियमित रूप से लेना चाहिए जिनके पेट सम्बन्धी परेशानी रहती है।

7. अन्नानास का रस

अन्नानास का रस

अन्नानास का रस न केवल स्वाद में बढ़िया होता हैं बल्कि यह स्वास्थ्य के लिए सेहतमंद भी होता है। इसमें मौजूद एंजाइम Bromelain होता है जो कब्ज में राहत देने के इलावा पेट का फूलना और पेट दर्द में आराम पहुँचता है। इसका खट्टा मीठा रस आपको हाइड्रेटेड रखता है।

8. सौंफ

सौंफ

सौंफ हमारे खाने को नरम और मुलायम बनाने में मदद करता है जिसकी वजह से कब्ज जैसी बीमारी में फ़ौरन आराम मिलता है क्योकि सौफ में Laxative गुण होते है। यह पेट से जुडी अन्य तकलीफों जैसे अजीर्ण और गैस बनने में भी काफी हद तक असरकारक है। सौफ पेट के गैस्ट्रिक एन्ज़इम्स को बढ़ाता जिसकी वजह से हमारा खाया हुआ खाना आसानी से पच जाता है और साथ ही पेट भी अच्छी तरह से साफ़ हो जाता है।

अपने पेट के सेहत बढ़िया रखने के लिए आधा चम्मच सौफ के पाउडर को रोज गर्म पानी के साथ ले। आप चाहे तो सौफ के तेल को अन्य किसी तेल जैसे नारियल के तेल में मिलकर पेट पर लगा सकते है। 

9. दूध और घी

दूध और घी

यह कहा जाता है कि लिमिट से ज्यादा डेरी प्रोडक्ट्स खाने से भी कब्ज की शिकायत होने लगती है लेकिन कुछ लोगों का यह भरोसा है कि घी मिला दूध पीने से हमारे Bowel movements और भी बेहतर तरीके से होते है साथ ही ऐसे लोगों को कभी भी कब्ज से परेशानी नहीं होती है। दूध और घी दोनों का उपयोग आयुर्वेद में भी देखने को मिलता है और ये कई सालों से बिना किसी स्वास्थ्य से सम्बंधित परेशानी होने की वजह से चला आ रहा है।

1-2  चम्मच देसी घी के गर्म दूध में मिलकर रात में सोते समय लेने से सुबह पेट अपने आप साफ़ हो जाता है और पूरे दिन ताज़गी व स्फूर्ति बनी रहती है। 

10. पुदीने का तेल

पुदीने का तेल

पुदीने अपनी Antispasmodic विषेशताओं के कारण जाना जाता है, जो पेट की मसल्स को ढीला करके दर्द से राहत देता है और इसके साथ ही मल को आसानी से शरीर के बाहर निकलने में मदद भी करता है। कब्ज से जल्दी निदान पाने के लिए आप पुदीने के शुद्ध तेल को गुनगुने पानी में मिलाकर इस मिश्रण को सुबह खाली पेट लेने से भी बहुत जल्दी सुकून मिलता है।

इसी प्रकार पुदीने की चाय भी कब्ज में रामबाण का काम करती है।

11. कब्ज के कुछ अन्य घरेलू उपाय

कब्ज के कुछ अन्य घरेलू उपाय

* फाइबर वाले फूड्स:- ज्यादा से ज्यादा रेशेदार खाद्य पदार्थो और कार्ब को अपने भोजन में शामिल करे।

* व्यायाम / एक्सरसाइज:- जब भी हम व्यायाम और शारारिक गतिविधियां को अधिक करना शुरू करते है तब हमारा पाचन तंत्र और उससे जुडी हुई सभी इन्द्रियाँ सही तरह से काम करने लगती है जिसकी वजह से कब्ज जैसी परेशानी नहीं होती है।

* आलूबुखारे:-  इनमें फाइबर प्रचुर मात्रा में होता है जिसके कारण पेट साफ़ रहता है और कब्ज दूर रहता है। 

* शहद:- यह भी कब्ज में काफी असरकारक और फायदेमंद माना जाता है।

* तिल:- इनमें मिलने वाला तेल आँतों को अंदर से चिकनाई पहुँचता है जिसकी वजह से मल आसानी से शरीर के बाहर बिना किसी परेशानी के निकल जाता है।

स्त्रोत्र 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *