महिलाओं में होने वाले वाइट वैजिनल डिस्चार्ज

श्वेत प्रदर की समस्या

महिलाओं के वाइट वैजिनल डिस्चार्ज का घरेलू उपचार

श्वेत प्रदर की समस्या
श्‍वेत प्रदर की समस्या:-
वाइट डिस्चार्ज या श्‍वेत प्रदर होना महिलाओं में एक साधारण प्रॉब्लम है। यह प्रॉब्लम आमतौर पर लड़कियों में किशोरावस्था होती है। हाँ थोड़ा बहुत वाइट डिस्चार्ज कोई बड़ी बात नहीं है लकिन बहुत ज्यादा चिंता का विषय है।
श्‍वेत प्रदर क्यों होता है? 
अत्याधिक वाइट डिस्चार्ज

अत्याधिक वाइट डिस्चार्ज होने से कमजोरी और इन्फेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है। अतः यह जरुरी है की उसका सही इलाज किया जाये। अगर डिस्चार्ज का कलर ग्रेइश वाइट, रस्टी, ग्रीन, येलो या ब्राउन है तो यह वाकई में चिंता का विषय हो सकता है। थिक वाइट डिस्चार्ज के साथ खुजली होना इन्फेक्शन के संकेत है। वाइट डिस्चार्ज होने के अन्य कारणों में वैजिनल जगह को साफ़ नहीं रखना, अत्याधिक परेशान या फिर चिंतित रहना, एक से अधिक पोषण संबंधी कमी होना।

रोग के लक्षण – थकान, चक्कर आना, खुजली, कमजोरी, प्राइवेट पार्ट्स से दुर्गन्ध, सिरदर्द और कब्ज। अगर डिस्चार्ज बहुत अधिक है तो सबसे अच्छा किसी डॉक्टर को कंसल्ट करना जरुरी है। हम यहाँ पर उसी के कुछ घरेलू इलाज बता रहे है जो इस परेशानी को काफी हद तक कम कर सके। काफी महिलाएं कुछ वैजिनल स्राव महसूस करती है जोकि एक रूप में अच्छा भी है क्योंकि यह योनि के बैक्टीरिया और फंगल इन्फेक्शन को दूर करता है। 

मैथी दाना:
मैथी दाना

उबले पानी की मैथी दाना को खाने से वाइट डिस्चार्ज की समस्या को बहुत हद तक सुलझाया जा सकता है। इस के लिए आप चाहे तो मैथी दाना को 500 ml पानी में उबाल ले, पानी जब आधा रह जाए तो ठंडा करके पी लेवे। 

भिंडी:
भिंडी
यह हम में कुछ लोंगो की पसदीदा सब्जी है। आप कुछ भिंडी को पानी में उबाल कर मिक्सी में पीस ले। इसके साथ आप चाहे तो दही में भीगी हुई भिंडी को भी खा सकते है। 
साबुत धनिया:
साबुत धनिया
थोड़े से साबुत धनिये को रात भर पानी में भिगो ले, सुबह उसी को छान कर खाली पेट लेने से बहुत फायदा मिलता है। यह सबसे आसान और सुरक्षित घरेलू इलाज है वाइट डिस्चार्ज को ठीक करने का जो हम आसानी से कर सकते है। 
आँवला:
आँवला

आँवला एक प्रकार का सुपर फ़ूड है जो की विटामिन-सी से भरपूर होता है। आँवला हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ता है और हमें स्वस्थ्य रखता है। आंवले को आप किसी भी रूप में ले सकते है – कच्चा, पाउडर, मुरब्बा और फिर घर में बनी टॉफी।  आंवले को नियमित रूप से खाने से भी इस समस्या को दूर किया जा सकता है। 

तुलसी:
तुलसी

तुलसी भी हम सभी के घरों में अधिकतर होती है। लोग तुलसी के गुणों के कारण बरसों से इसका इस्तेमाल करते आ रहे है। आप तुलसी के कुछ पत्तियों को पानी के साथ पीस कर उसमे थोड़ी से शहद मिला सकते है। इस पदार्थ को दिन में दो बार पीने से श्वेत प्रदर की परेशानी को दूर कर सकते है। आप तुलसी को दूध के साथ भी ले सकते है। 

चावल का माड़:
चावल का माड़

आप चावल के माड़ को भी नियमित रूप से पी सकते है जो वाइट डिस्चार्ज को काफी हद तक कम करने में सहायक होता है। चावल के माड़ एक बहुत ही बेहतर माध्यम है इस बीमारी को दूर करने का अगर आप काफी समय से इससे पीड़ित है। 

अमरूद की पत्तियाँ:
अमरूद की पत्तियाँ
अगर आपको डिस्चार्ज के समय खुजली भी रहती है तो आप थोड़ी सी अमरुद की पत्तियों को पानी में उबाल कर ठंडा होने पर पी सकते है। इसको आपको दिन में दो बार पीना होगा। 

स्त्रोत्र